अरूण राय को लगा 100 करोड़वां टीका, मनीष कुमार को एम्स में मिला था पहला टीका
Editor : Mini
 21 Oct 2021 |  104

नई दिल्ली,
कोरोना महामारी के खिलाफ जंग में भारत ने पूरी दुनिया के सामने एक मिसाल कायम की है। गुरुवार की सुबह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी राममनोहर लोहिया अस्पताल पहुंचे। वहां स्वास्थ्यकर्मियों से बात की। उनके काम की सराहना की। इसी अस्पताल में 100 करोड़वां टीका अरूण राय को लगाया गया है। पीएम मोदी ने सौ करोड़वे टीका लाभार्थी अरूण राय को बधाई दी।
100 करोड़वां टीका लगवाने के बाद अरूण राय ने कहा कि वे बेहद खुश हैं उन्हें इस बात की भी खुशी है कि वे पीएम मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी से आते हैं। आज टीका लगवाने के बाद पीएम मोदी ने उनसे बात की। वे बेहद खुश हैं।
उल्लेखनीय है कि पहला टीका एम्स नई दिल्ली में 16 जनवरी को लगा था और पहले व्यक्ति का नाम था मनीष कुमार, दलित समुदाय का था और स्वास्थ्यकर्मी है। इस अभियान का उद्घाटन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वर्चुअली किया था। 100 करोड़वां टीका 21 अक्टूबर को दिल्ली के रामनमनोहर लोहिया अस्पातल में वाराणसी के अरूण रॉय को लगाया गया, अरूण रॉय दिवयांग हैं।
देश की इस उपलब्धि पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा कि आज भारत को 100 करोड़ वैक्सीन का सुरक्षा कवच मिला है। इसके लिए मैं अपनी स्वास्थ्य सेवाओं से जुड़े सभी लोगों को बधाई देता हूं। मोदी ने कहा कि आज एक उत्साह है और दायित्व भी है कि हमें मिलकर कोरोना को हराना है।
प्रधानमंत्री ने एक ट्वीट में कहा; "भारत ने इतिहास रचा। हम 130 करोड़ भारतीयों के विज्ञान, उद्यम और उनकी सामूहिक भावना कीविजय देख रहे हैं। 100 करोड़ टीकाकरण को पार करने पर भारत को बधाई। हमारे डॉक्टरों, नर्सों और इस उपलब्धि को हासिल करने के लिए काम करने वाले सभी लोगों के प्रति आभार।
इससे पहले केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मनसुख मांडविया ने पीएम मोदी की अस्पताल में अगवानी की। भारत ने गुरुवार को कोरोना टीके की 100 करोड़ से ज्यादा खुराके लगाने का लक्ष्य हासिल करने पर विश्व स्वास्थ्य संगठन के प्रमुख टेड्रोस ए गीब्रीसीस ने पीएम मोदी को बधाई दी है।
भारत के इस ऐतिहासिक क्षण पर डब्ल्यूएचओ चीफ ने कहा है कि देश में बिना किसी पक्षपात टीकाकरण का लक्ष्य हासिल हुआ है। डब्ल्यूएचओ निदेशक ने कहा, 'कोरोना के प्रति अपनी संवेदनशील आबादी को बचाने और पक्षपात रहित रहकर टीकाकरण लक्ष्य को हासिल करने के प्रयासों को लेकर भारत के पीएम नरेंद्र मोदी, वैज्ञानिकों और स्वास्थ्यकर्मियों को बधाई।'
दो दिन पहले ही केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया ने भी डब्ल्यूएचओ चीफ से फोन पर बात थी। इस दौरान दोनों के बीच महामारी के प्रबंधन और डब्ल्यूएचओ से जुड़े सुधारों पर चर्चा हुई थी।
मालूम हो कि देश में उत्तर प्रदेश में सबसे ज्यादा कोरोना टीके दिए गए हैं। इसके बाद महाराष्ट्र, पश्चिम बंगाल, गुजरात और मध्य प्रदेश में सर्वाधिक टीकाकरण हुआ है।


100 करोड़ वैक्सीनेशन के जश्न में ऑडियो-वीडियो फिल्म लॉन्च

केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडविया ने भारत में 100 करोड़ कोरोना वैक्सीनेशन का आंकड़ा पार करने के अवसर पर दिल्ली के लाल किला से एक गाना और एक ऑडियो-वीडियो फिल्म लॉन्च किया। इस मौके पर केन्द्रीय स्वास्थ्य राज्य मंत्री भारती प्रवीण पवार भी मौजूद रहीं। अपने संबोधन में मनसुख मांडविया ने कहा कि भारत ने ऐतिहासिक 100 करोड़ वैक्सीनेशन का आंकड़ा पार करके एक इतिहास रचा है। 100 करोड़ वैक्सीनेशन देशवासियों के विश्वास की अनुभूति है। 100 करोड़ वैक्सीनेशन आत्मनिर्भर भारत की दिवाली है।
ऑडियो-वीडियो फिल्म में 'ना हम रुके कहीं, ना हम डिगे कहीं, शत्रु हो कोई भी हम झुके नहीं' शीर्षक गाना है जिसे कैलाश खेर ने गाया है। स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि भारत का टीकाकरण लिख रहा एक नया इतिहास है। आपको बता दे कि भारत में कोविड-19 टीकों की अब तक दी गई खुराकों की संख्या बृहस्पतिवार को 100 करोड़ के पार पहुंच गई और इसी के साथ देश ने कोरोना वायरस के खिलाफ अपने टीकाकरण कार्यक्रम में एक बड़ी उपलब्धि हासिल कर ली।


Browse By Tags




Related News

Copyright © 2021 Sehat 365. All rights reserved          /         No of Visitors:- 270138