तीन दिन लगातार बुखार न आने पर खत्म होगा होम आइसोलेशन
Editor : Mini
 05 Jan 2022 |  199

सौरभ मौर्या
कोरोना की तीसरी लहर में अधिकांश मरीज हल्के लक्षण वाले या फिर बगैर लक्षण वाले हैं। इन मरीजों को होम आइसोलेशन में रखा जा रहा है। इसे देखते हुए केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने होम आइसोलेशन के लिए रिवाइज्ड गाइडलाइंस जारी की हैं। गाइडलाइंस में कहा गया है कि कोरोना टेस्ट पॉजिटिव आने के 7 दिन बाद और लगातार 3 दिन तक बुखार नहीं आने पर होम आइसोलेशन खत्म हो जाएगा। मरीज को डिस्चार्ज कर दिया जाएगा। होम आइसोलेशन पीरियड खत्म होने के बाद मरीज को दोबारा टेस्ट कराने की जरूरत नहीं है।
एसिम्टोमैटिक व माइल्ड लक्षण वाले मरीजों के लिए कहा गया कि जिनमें कोरोना के लक्षण न हों। ऑक्सीजन लेवल 93 प्रतिशत से ज्यादा हो। मरीज में अपर रेस्पिरेटरी ट्रैक के लक्षण बुखार के साथ या बिना बुखार के हो सकते हैं। सांस लेने में तकलीफ न हो।

कब माने जाएं होम आइसोलेशन के मरीज
- मेडिकल अफसर रोगी को क्लीनिकली रूप से माइल्ड व एसिम्प्टोमैटिक मामले की पुष्टि करे।
- ऐसे मामलों में सेल्फ आइसोलेशन और पारिवारिक संपर्क को क्वारेंटाइन करने के लिए घर पर उचित सुविधा होनी चाहिए।
- मरीज की देखभाल करने वाला कोई व्यक्ति जिसने अपना कोविड टीकाकरण पूरा कर लिया है।
- 60 साल से ज्यादा उम्र के बुजुर्ग रोगी और हाई ब्लड प्रेशर, डायबिटीज, हृदय रोग, फेफड़ों की बीमारी, लिवर, गुर्दे की बीमारी, सेरेब्रोवास्कुलर जैसे रोग वाले मरीज को डाक्टर की सलाह पर ही होम आइसोलेशन की इजाजत दी जाएगी।
- एचआईवी, ट्रांसप्लांट के मरीज व कैंसर रोगियों होम आइसोलेशन की इजाजत नहीं है। यदि उनके डाक्टर अनुमति देते हैं तब ही ऐसे रोगी को घर में रखा जाए।
- मरीज को घर के अन्य सदस्यों से खुद को अलग करना होगा।
- मरीज का कमरा हवादार हो। ताजी हवा अंदर आने के लिए खिड़कियां खुली रखनी चाहिए।
- मरीज को ट्रिपल लेयर मेडिकल मास्क का इस्तेमाल करना चाहिए। आठ घंटे के उपयोग के बाद मास्क को हटा दिया जाए।
- रोगी के लिए पल्स ऑक्सीमीटर के साथ ऑक्सीजन सेचुरेशन की सेल्फ मॉनिटरिंग की सलाह दी गयी है।
- रोगी अपने तापमान की सेल्फ मॉनिटरिंग करें।
- चिकित्सा अधिकारी से परामर्श करने के बाद रोगी को अन्य बीमारी के लिए दवाएं जारी रखनी चाहिए।
- रोगी गर्म पानी से गरारे कर सकते हैं या दिन में तीन बार भाप ले सकते हैं।
- दिन में चार बार पैरासिटामोल 650 मिलीग्राम की अधिकतम डोज से बुखार नियंत्रित नहीं होता है तो डॉक्टर से परामर्श लें।
- खुद से स्टेरॉयड का प्रयोग न करें।
इलाज कब शुरू करें

गाइडलाइंस के मुताबिक रोगी/केयरगिवर उनके स्वास्थ्य की निगरानी करते रहेंगे. गंभीर लक्षण या लक्षण डेवलप होने पर तत्काल चिकित्सा सहायता लेनी चाहिए.
इनमें हाई लेवल फीवर शामिल हो सकते हैं यानी 3 दिनों से ज्यादा के लिए 100 डिग्री से ज्यादा बुखार हो तो.
सांस लेने में दिक्कत हो
ऑक्सीजन लेवल में कमी यानी रस्रड2 93% कमरे की हवा पर 1 घंटे के अंदर कम से कम 3 रीडिंग
सीने में लगातार दर्द/दबाव,
मानसिक भ्रम
गंभीर थकान
होम आइसोलेशन कब बंद करें
कम से कम 7 दिन पॉजिटिव टेस्ट और लगातार 3 दिनों तक बुखार नहीं होने के बाद आइसोलेशन समाप्त हो जाएगा और वो मास्क पहनना जारी रखेंगे.
- होम आइसोलेशन की अवधि समाप्त होने के बाद फिर टेस्ट कराने की कोई जरूरत नहीं है.


Browse By Tags




Related News

Copyright © 2021 Sehat 365. All rights reserved          /         No of Visitors:- 709819