मरीजों को न जाना पड़े बार बार अस्पताल, निगम ने दी एक महीने की अग्रिम दवा
Editor : Mini
 05 May 2022 |  55

नई दिल्ली,
उत्तरी दिल्ली नगर निगम ने कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए जरूरी कदम उठाए हैं। जिसके अंतर्गत कोरोना नियमों का पालन करते हुए कोरोना संदिग्ध मरीजों के लिए अलग पंजीकरण काउंटर, अलग प्रतीक्षालय, डॉक्टरी परामर्श के लिए अलग पंक्ति, लैब टेस्ट एवं दवाइयों के वितरण के लिए अलग काउंटर का प्रावधान किया है तथा सभी चिकित्सालयों को निर्देशित किया है कि इस संबंध में चिकित्सालयों में दिशा निर्देशों का समुचित रूप से पालन किया जाए। इसके साथ ही निगम से साठ साल से अधिक उम्र के लोगों और क्रानिक बिमारी के रोगियों को एक महीने की अग्रिम दवा दे दी हैं, जिससे उन्हें बार बार अस्पताल के चक्कर न काटने पड़े। मालूम हो कि अधिक उम्र और कोमोरबिड बीमारी के शिकार लोगों को संक्रमण का खतर अधिक होता है।
उत्तरी दिल्ली नगर निगम ने सभी प्रभारी चिकित्सा अधिकारियों को निर्देश दिया है कि कोरोना की रोकथाम के लिए आवश्यक दवाइयों का समुचित भंडार करके रखें तथा आवश्यक वस्तुएं जैसे कि पीपीई किट, मास्क, दस्ताने, सैनिटाइजर, लिक्विड साबुन, पल्स ऑक्सीमीटर इत्यादि को भी स्टॉक करके रखें। उत्तरी दिल्ली नगर निगम ने कोविड केयर केन्द्रों पर स्थापित किए गए ऑक्सीजन संयंत्रों को संचालन के लिए तैयार रखने के निर्देश दिए हैं एवं ऑक्सीजन कंसेंट्रेटर एवं सिलेंडरों की समुचित व्यवस्था भी कर ली है। निगम ने कोरोना के गंभीर रोगियों को अधिक देखभाल एवं जांच के लिए संबंधित उच्च नोडल अस्पतालों में रेफर करने संबंधी आदेश दिए हैं।
उत्तरी दिल्ली नगर निगम ने 60 वर्ष से ऊपर के वरिष्ठ नागरिकों की देखभाल के लिए उन्हें प्राथमिकता दी है। उत्तरी दिल्ली नगर निगम के चिकित्सालयों में गैर कोविड एवं क्रानिक बीमारियों के रोगियों को एक महीने की अग्रिम दवाई देने की योजना बनाई है क्योंकि उनकी रोग प्रतिरोधक क्षमता कम होने के कारण ऐसे समय में जब कोरोना के मामले बढ़ रहे हैं तो उन्हें कोरोना होने के ज्यादा आसार है तथा एक महीने की अग्रिम दवाई मिलने के कारण उन्हें बार बार अस्पताल के चक्कर नहीं काटने पड़ेंगे।
उत्तरी दिल्ली नगर निगम ने प्रत्येक फ्लू क्लिनिक पर आने वाले रोगियों के लिए इंफ्रारेड थर्मोमीटर से तापमान जांच अनिवार्य कर दी है। निगम ने प्रत्येक स्वास्थ्य केंद्र पर एक नोडल अधिकारी नियुक्त किया है जिसका कार्य सैनिटाइजेशन, संक्रमण निवारण एवं बायोमेडिकल कचरे का प्रबंधन एवं नियंत्रण होगा। उत्तरी दिल्ली नगर निगम पूरी प्रतिबद्धता से कोरोना संक्रमण की इस लहर का सामना करने के लिए तैयार है। मालूम हो कि दिल्ली में बीते दो हफ्ते से लगातार कोविड के मामलों में तेजी से वृद्धि देखी जा रही है मंगलवार को राजधानी में एक हजार से अधिक पॉजिटिव मरीज देखे गए।





Browse By Tags




Related News

Copyright © 2021 Sehat 365. All rights reserved          /         No of Visitors:- 709827