खाने मे ज्यादा नमक दे सकता है डिमेंशिया
Editor : Rishi
 21 Jan 2018 |  326

नई दिल्ली
खाने में ज्यादा नमक की मात्रा आपको वृद्धावस्था में डिमेशिया का मरीज बना सकती है। हाल ही में इस बावत हुए एक अंर्तराष्ट्रीय अध्ययन में खुलासा हुआ है कि ज्यादा नमक मस्तिष्क में खून की सामान्य आपूर्ति को कम करता है। अध्ययन के परिणाम जानने के लिए चूहों को लंबे समय तक अधिक नमक युक्त चीजें दी गईं।
नेचन न्यूरोसाइंस के 15 जनवरी के अंक में प्रकाशित अध्ययन में पहली बार डायट और दिमाग से जुड़ी परेशानियों को शोध के जरिए उजागर किया गया है। पाया गया कि लंबे समय तक चूहों को अधिक मात्रा में दिया गया नमक उनके मस्तिष्क की क्रियाशीलता को कम करता है। एक समय के बाद अधिक नमक का सेवन डिमेंशिया या भूलने की बीमारी की वजह भी बन सकता है। शोधकर्ता डॉ. कैशटेन टिनो के अनुसार अध्ययन के परिणाम आश्यर्च जनक से जबकि लंबे समय से हाइपरटेंशन के मरीजों को नमक का सेवन बढ़ाने की सलाह दी जाती रही है। एक अनुमान के अनुसार 90 प्रतिशत अमेरिकी 2300 मिली ग्राम प्रतिदिन प्रस्तावित सोडियम की मात्रा के एवज में दो गुना अधिक नमक का सेवन करते हैं। अध्ययन में चूहों को रोजाना चार से आठ प्रतिशत तक नमक दिया गया। डायट में नमक की सबसे अधिक मात्रा एक सामान्य मनुष्य के खाने में नमक की मात्रा जिनती रखी गई। आठ हफ्ते बाद चूहों की मस्तिष्क की मैगनेटिक रेजोनेंंस जांच की गई देखा गया कि नमक की मात्रा नियमित बढ़ने से चूहों के दिमाग के एक निर्धारित भाग में खून की आपूर्ति लगातार कम होती जा रही है। जिसे सेरेब्रल ब्लड फ्लो भी कहा जाता है।


Browse By Tags




Related News

Copyright © 2016 Sehat 365. All rights reserved          /         No of Visitors:- 1567730