प्राकृतिक चिकित्सा दिवस से रोग मुक्त भारत अभियान की शुरुआत
Editor : Mini
 19 Nov 2021 |  90

नई दिल्ली,
आयुष मंत्रालय के सहयोग से सूर्या फाउंडेशन एवं इंटरनेशनल नेचुरोपैथी आर्गेनाइजेशन (आईएनओ) द्वारा 18 नवंबर 2021 को चौथे प्राकृतिक चिकित्सा दिवस का आयोजन किया गया। इस अवसर पर 15 अगस्त 2022 तक प्राकृतिक चिकित्सा योग के प्रति जन जागरण हेतु रोग मुक्त भारत अभियान की शुरुआत की गई। यह कार्यक्रम आईएनओ के द्वारा आजादी के अमृत महोत्सव के उपलक्ष्य में 75वें स्वतंत्रता दिवस तक देशभर में चलाया जाएगा। इस कार्यक्रम के अंतर्गत सूर्या फाउंडेशन एवं आईएनओ के चेयरमैन पद्मश्री जयप्रकाश अग्रवाल के मार्गदर्शन में देशभर में प्राकृतिक चिकित्सा शिविर लगाए जाएंगे जिसमें लोगों को प्राकृतिक चिकित्सा के बारे में परामर्श दिया जाएगा और इस बावत जागरूक किया जाएगा कि किस तरह से वह अपनी पारंपरिक चिकित्सा पद्धति अर्थात प्राकृतिक चिकित्सा के माध्यम से निरोगी एवं स्वस्थ रह सकते हैं।
शुक्रवार को डॉक्टर अंबेडकर इंटरनेशनल सेंटर में आयुष राज्यमंत्री महेंद्र भाई मुंजापारा ने दीप प्रज्वलित करते हुए कार्यक्रम का उद्घाटन रोग मुक्त भारत अभियान के शुभारम्भ से किया। इस अवसर पर उन्होंने सभा को सम्बोधित करते हुए कहा कि सूर्या फाउण्डेशन व आईएनओ देश के सर्वांगीण विकास हेतु पिछले 25 वर्षों से राष्ट्र निर्माण गतिविधियों के साथ-साथ घर-घर में प्राकृतिक चिकित्सा योग का ज्ञान तथा लाभ पहुँचाने का सकारात्मक प्रयास कर रही है। आयुष राज्यमंत्री महेंद्र भाई मुंजापारा ने कहा कि फास्ट फूड व शारीरिक श्रम नहीं करने से मोटापा, कब्ज, हृदय संबंधी बीमारी, डायबिटीज, कैंसर, मानसिक रोग एवं उच्च रक्तचाप जैसे अनेक भयंकर बीमारियों को आमंत्रित किया जा रहा है। देश के युवा व आम जनता को स्वास्थ्य के प्रति जागरूक करने हेतु एनआईओ द्वारा जो "कौन बनेगा स्वास्थ रक्षक प्रतियोगित व अन्य कार्यक्रम चलाये जा रहे हैं वो समाज के हर व्यक्ति को स्वस्थ रखने में उपयोगी सिद्ध होंगे।
इस अवसर पर वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से अपने संदेश में पतंजलि योगपीठ के संस्थापक बाबा रामदेव ने सूर्या फाउंडेशन एवं आईएनओ के चेयरमैन पद्मश्री जयप्रकाश अग्रवाल जी की प्रशंसा करते हुए कहा की वह प्राकृतिक चिकित्सा के एक ऐसे मनीषी है जो तन मन धन से प्राकृतिक चिकित्सा के प्रचार प्रसार में लगे हुए हैं। उन्होंने कहा कि हमारे यहाँ युगो-योगो से प्राकृतिक चिकित्सा पद्धति को अपनाया जा रहा है। सूर्य, अग्नि, जल, पृथ्वी की उपासना और उपवास हमारी संस्कृति और जीवन शैली का हमेशा से एक अभिन्न अंग रहे हैं। सभा को सम्बोधित करते हुए सूर्या फाउंडेशन एवं आईएनओ के चेयरमैन पद्मश्री जयप्रकाश अग्रवाल जी ने कहा कि प्राकृतिक चिकित्सा सस्ती, सरल एवं सुलभ चिकित्सा है जिसे हर व्यक्ति सीख सकता है और सीख कर औरो को भी निरोगी बना सकता है इस दिशा में हमारे यशस्वी प्रधानमंत्री के नेतृत्व में आयुष मंत्रालय प्रशंसनीय कार्य कर रहा है साथ ही आईएनओ के कार्यकर्ता भी देश भर में जन-जन तक एवं घर-घर तक पहुंचने का कार्य कर रहे हैं।
इस अवसर पर आईएनओ के राष्ट्रीय अध्यक्ष अनंत बिरादार ने घोषणा की कि बच्चों एवं वयस्कों में प्राकृतिक चिकित्सा के प्रति रुचि एवं जागरूकता पैदा करने के लिए आईएनओ कौन बनेगा स्वास्थ्य रक्षक" प्रतियोगिता का देश भर मे आयोजन करेगी। ऑनलाइन चलने वाली इस प्रतियोगिता में सात लाख से भी अधिक लोग भाग लेंगे इस अवसर पर राष्ट्रीय अध्यक्ष अनंत बिरादार ने यह भी घोषणा की कि देशभर में प्रमुख 75 स्थानों पर आज़ादी के अमृत महोत्सव के उपलक्ष्य में प्राकृतिक चिकित्सा शिविरों का आयोजन किया जायेगो जिसमें लोगों को इस दवा रहित चिकित्सा पद्धति के माध्यम से मात्र मिट्टी, पानी, धुप, हवा से स्वस्थ रहने का मंत्र दिया जायेगा।
सभा को संबोधित करते हुए लोकसभा सदस्य श्री राजू बिस्ट ने कहा की हमारी पारंपरिक चिकित्सा पद्धति बहुत ही प्रभावशाली है आज आईएनओ के माध्यम से देश भर में लोग प्राकृतिक चिकित्सा को अपना रहे हैे
इस अवसर पर अपने आशीर्वचन देते हुए जैन मुनि आचार्य लोकेश मुनि ने कहा कि हम प्राकृतिक चिकित्सा के माध्यम से देश भर में लोगों को स्वस्थ एवं निरोगी रख सकते है आवश्यकता है तो जीवन में धैर्य और संयम को अपनाने की।
चौथे प्राकृतिक चिकित्सा दिवस के अवसर पर हर साल की तरह इस साल भी इंटरनेशनल नेचरोपैथी ऑर्गेनाइजेशन ने प्राकृतिक चिकित्सा में प्रशंसनीय कार्य करने वाले व अपने पुरे जीवन को इस पद्धति के प्रचार प्रसार एवं संचार में समर्पित करने वाले छह अति विशिष्ट लोगों को सम्मानित किया गया।
इस में महात्मा गांधी इंटरनेशनल अवार्ड के लिए नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ नेचुरोपैथी, पुणे की डायरेक्टर एवं निदेशक प्रोफेसर (डॉ.) के सत्यलक्ष्मी को सम्मानित किया गया, राजकुमारी अमृत कौर अवार्ड से पश्चिम बंगाल की वरिष्ठ प्राकृतिक चिकित्सक डॉक्टर सोनी प्रभा वर्मा को सम्मानित किया गयो बालकोवा भावे अवार्ड से महाराष्ट्र के डॉक्टर जीवन लाल गांधी को सम्मानित किया गयो डॉ. वैकेंटराव अवार्ड से आंध्र प्रदेश के डॉ अमरेंद्र राव को सम्मानित किया गया, डॉक्टर विट्ठल दास मोदी अवार्ड से कर्नाटक के डॉ. बीटी चिदानंद मूर्ति को सम्मानित किया गया और महावीर प्रसाद पोद्दार अवार्ड से गुजरात के डॉक्टर जय सिंघवी को सम्मानित किया गया।


Browse By Tags




Related News

Copyright © 2016 Sehat 365. All rights reserved          /         No of Visitors:- 22041